मंगलवार, 5 फ़रवरी 2013

ओवैसी के जवाब में अब तोगड़िया की 'हेट स्पीच'




praveen_togadia
नई दिल्ली।। मजलिस-ए-एत्तेहादुल के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी की हेट स्पीच पर जहां विवाद अभी थमा भी नहीं है, वहीं अब विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के नेता प्रवीण तोगड़िया की हैदराबाद के पास दी गई हेट स्पीच पर खूब बवाल हो रहा है। ओवैसी को जवाब देते हुए तोगड़िया ने कई दंगों का बखान करते हुए कहा कि वहां भी पुलिस बस खड़ी देखती रही थी। तोगड़िया ने कहा, 'एक ने कहा कि पुलिस हटा लो, मैंने कहा 20 साल में जब-जब पुलिस हटी है, तब का देश का इतिहास देख ले।' तोगड़िया ने अपने भाषण से इस आरोप को अनजाने में पुष्ट करने का काम किया है कि दंगों के दौरान पुलिस निष्क्रिय रहती है।

यू-ट्यूब पर तोगड़िया के भाषण का यह विडियो खूब चल रहा है। इसमें तोगड़िया अकबरुद्दीन ओवैसी का नाम लिए बिना उन्हें कुत्ता भी करार दे रहे हैं। ओवैसी ने हैदराबाद के पास निर्मल में पिछले साल भड़काऊ भाषण दिया था। इस मामले में उनके खिलाफ कई केस चल रहे हैं। जिस भाषण में तोगड़िया को यू-ट्यूब पर ओवैसी को जवाब देते हुए दिखाया गया है, बताया जा रहा है कि वह उन्होंने निर्मल से 80 किलोमीटर दूर भोकर में जनवरी में किसी समय दिया था।

विडियो में तोगड़िया कह रहे हैं, '
मु्स्लिम वोट बैंक के आधार पर देश में लूट मची है। तभी तो कुत्ता अपने आप को शेर समझने लगता है। एक हैदराबाद में कुत्ता है, वह अपने आप को शेर समझने लगा। एक ने कहा, पुलिस हटा लो, मैंने कहा 20 साल में जब-जब पुलिस हटी है, तब का देश का इतिहास देख ले। अगर तुझे पता नहीं है, तो आईने में इतिहास दिखा दूं।' वीएचपी नेता ने पिछले 20-25 सालों में हुए दंगों का हवाला देते हुए कहा कि हमें चुनौती न दें।

तोगड़िया ने आगे कहा, 'एक बार असम में पुलिस हट गई। उस स्थान का नाम है नेड़ी। अरे मेरे भाइयो, फिर क्या हुआ... लाशों का ढेर लग गया था... गिनी तो 3 हजार लाशें गई थीं... उनमें हिंदू की लाश एक भी नहीं थी.. अरे मेरे भाइयो ऐसा 20 साल पहले बिहार के भागलपुर में हुआ... फिर तो क्या हुआ... भागलपुर के नजदीक गंगा बहती है... गंगा में लाशें ही लाशें दिखाई देने लगीं... गिन नहीं पाए.. सागर तक बह गईं। उनमें एक भी लाश हिंदू की नहीं थी।'
तोगड़िया यहीं नहीं रुके। उन्होंने गुजरात दंगों का जिक्र करते हुए कहा, 'ऐसा ही यूपी के मेरठ, मुरादाबाद में हुआ... अरे गुजरात में पुलिस खड़ी थी, देखो क्या हुआ। इसलिए पुलिस को हटा दो कहने वाले सपने भूल जाओ।'

तोगड़िया ने आक्रामक शैली में दंगों का जिक्र करते हुए कहा, 'जिनके पुरखों की रक्त शिराओं में शौर्य का लहू बह रहा था, उनके ही वंशज आज हिन्दू के नाते खड़े हैं। जो कायर थे, डरपोक थे, वे ही हमारे धर्म में नहीं हैं। जिनको हल्दी घाटी खेलना था, जिनको सरहिंद के किले की दीवार में गुरु गोविंद सिंह का पुत्र बनकर मरना था, जिनको पानीपत का मैदान अपने रक्त से भरना था, उनके वंशज आज हिन्दू के नाते धरती पर जिंदा हैं। कायर हमारा साथ छोड़कर चले गए। तुम क्या हमें चुनौती दोगे। हिन्दू धर्म कोई कायरों का धर्म नहीं है, वह अपने हाथ में तलवार धारण करने वाली मां भवानी का धर्म है।'

यू-ट्यूब पर इस विडियो के आने के बाद अब सवाल उठता है कि क्या ओवैसी की तरह तोगड़िया के खिलाफ भी पुलिस एफआईआर दर्ज करेगी? क्या इस भड़काऊ भाषण के लिए क्या उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई होगी? 
 साभार 
 
blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN