शुक्रवार, 3 अक्तूबर 2014

राजेश कुमार श्रीवास्तव पुलिस उपाधीक्षक -------------गवाह ------------8------जारी---3

Page---21
                  PW 8
                    24-7-2012
आज दिनांक 24.08.12 को
गवाह राजेश कुमार श्रीवास्तव ने सशपथ
बयान किया।
मेरे द्वारा भारतीय दूरसंचार निगम लि0 से
मोबाइल नं0 9450047342 के धारक का
कस्टमर एड्रेस फार्म मांगे जाने हेतु अनुरोध
पत्र प्रेषित किया गया था जिस पर उनके
द्वारा उक्त मोबाइल धारक का नाम मौहम्मद
आसिफ पुत्र सौद अहमद ग्राम मसूरन नारायन
पुर कला दोस्तपुर जनपद सुल्तानपुर अवगत
कराया गया। उक्त पत्र की मूल प्रतिलिपी
सहायक महा प्रबंधक प्रशासन भारत दूरसंचार
निगम लिमिटेड द्वारा चार वर्क में प्रेषित
की गई है जो उनके कवरिंग पत्र समेत
5 वर्क आज मेरे द्वारा न्यायालय के समक्ष
दाखिल की जा रही है। (कागज नं0 373)
मेरे द्वारा दिनांक 04.09.2008 को मोबाइल
नं0 9795323646, 9889810589,
9989810588 के धारक का कस्टमर
एड्रेस फार्म द्वारा रजिस्टर्ड मेल आई0डी0
आरएस एैटदिरेटआफयूपीएटीएस पर प्राप्त
किया गया तथा जिसका मूल प्रिंटआउट
मेरे द्वारा लेकर सी0डी0 के साथ दाखिल
किया गया जो पत्रावली मंे कागज सं0
  Page--- (22)
                PW 8
                    24-7-2012

अ 38/3 लागायत अ 38/10 है कि उक्त
customer address form  की मूलप्रति
6 वर्क मय कवरिंग प्रपत्र 7 वर्क आज
मेरे द्वारा दाखिल की जा रही है। मेरे
द्वारा IMEI नम्बर 355-655-0072
10646, 355632015901419,
35146606418697 से सम्बंधित
Call detail report विभिन्न नेटवर्कों
द्वारा मेरे रजिस्टर्ड मेल आई डी0
rs@upats.com पर प्रेषित की गई
थी जिनके call detail report का
प्रिंट आउट मेरे द्वारा लेकर केस डायरी
के साथ संलग्नक किया गया जो
शामिल पत्रावली कागज सं0 अ 36/83
ता अ 36/148 है। कुल 113 वर्क है। उक्त
IEMI  नम्बर से सम्बंधित call detial
Report की प्रमाणित प्रतिलिपि आज मेरे
द्वारा 40 वर्क दाखिल की जा रही है। मेरे
द्वारा मोबाइल नम्बर 9450047342,
9450624562, 9450624564 एवं
9451253363 तथा IEMI No.  3551466
40641869ए 35551901897530ए 3536
3201590141ए 35565500721064ए
Page---(23)
                  PW 8
                    24-7-2012

35363201590983 एवं 35363201590141
से सम्बंधित call detail report  की
प्रमाणित प्रतिलिपियां मैं आज दाखिल कर
रहा हूँ जो मय कवरिंग लेटर के कुल 165 वर्क
हैं जिसकी मेरे द्वारा पूर्व में निकाले गये
प्रिंट आउट पत्रावली मंे दाखिल
है। मेरे द्वारा 24.07.2008 को मुख्य न्यायिक
मजिस्टेªट के समक्ष अभियुक्त गणों के पास
से बरामद किये गये बस टिकट, रेलवे
स्टैण्ड के टिकट को सत्यापित किये जाने
हेतु तथा अभियुक्तगणों के पास से
बरामद किये गये मोबाइल फोन एवं
सिम कार्ड का इलेक्ट्रानिक फोरेंसिक
परीक्षण कराये जाने हेतु अनुमति प्राप्त
करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया गया जिस
पर उनके द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई उक्त
अंकित प्रपत्र मेरे हस्ताक्षर से पत्रावली
कागज सं0 अ 32/2 दाखिल है। दिनांक
25.7.2008 को थाना कोतवाली जनपद
बाराबंकी जाकर मालखाना मोहर्रिर
श्री भगवती श्री ए0के0 सैनी की उपस्थिति में
Page--- (24)
                  PW 8
                    24-7-2012

मेरे द्वारा अभियुक्तगणों के पास से बरामद
माल मालखाना से प्राप्त किया गया तथा
माल पर अंकित सील का निरीक्षण किया
गया जो ठीक ठाक पाया गया। इसके
उपरांत मैंने अपनी उपस्थिति मंे उन मालों
को खुलवाया तथा अभियुक्तगणों के पास
से बरामद बस टिकट एवं रेलवे स्टैण्ड के
टिकट की छायाप्रति अपने सामने करायी
अभियुक्तगणों के पास से बरामद किये
गये मोाबइल फोन तथा सिम कार्डों को
अलग करते हुए शेष माल को उसी
कपड़ें में सर्व मोहर कर सील किया
गया। तथा उसे सुरक्षित रूप से रखने
हेतु मालखाना मोहर्रिर को सुपुर्द कर
दिया गया एवं इसकी फर्द मेरे लेख
एवं हस्ताक्षर में साक्षीगणों की
उपस्थिति में तैयार की गई तथा मेरे द्वारा
फर्द उनको पढ़ाकर एवं उनके
हस्ताक्षर फर्द पर कराते हुए फर्द एवं
नमूना लेख मोहर की एक प्रति माल
खाना मोहर्रिर श्री भगतवी प्रसाद मिश्र
को प्रदान की गई उक्त फर्द की मूल
कागज सं0 अ-32/3 शामिल पत्रावली है जो
मेरे लेख व हस्ताक्षर में है जिस पर
प्रदर्शक-24 डाला गया।
Page--- (25)
                    PW 8
                    24-7-2012


अभियुक्त गणों के पास से बरामद
किये गये मोबाइल फोन तथा सिमकार्ड
मेरे द्वारा थाना एटीएस आकर एटीएस के
मालखाना मोहर्रिर को सुपुर्द की गई तथा
इसकी प्रविष्टि थाना एटीएस के जी0डी0 में
की गई। मेरे द्वारा बीएसएनएल से मूल प्रपत्र
कुल 165 वर्क जो आज दाखिल करना
बताया था त्रुटि होने के कारण पुनः मेरे
द्वारा उसकी गणना की गई तथा त्रुटि
संशोधित कर कुल 167 वर्क मेरे द्वारा
दाखिल किया गया जो सही है। मेरे द्वारा
अभियुक्तगणों के पास से बरामद किये गये
मोबाइल फोन तथा सिमकार्डों से सम्बंधित
केन्द्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला के निदेशक
के पत्रावली सं0 13/CFSL (H) EE/2008/14651
से सम्बंधित electronic forensic scrence
report दिनांक 27.07.09 को प्राप्त की गई।
जो शामिल पत्रावली में बुकलेट कागज सं0
अ-158 पर है। मेरे द्वारा दिनांक 26.08.09
को STF के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के
बयान अंकित किये गये। उक्त बयान के
अन्तर्गत उपनिरीक्षक अजय चतुर्वेदी, उपनि
रीक्षक संदीप मिश्रा, उप निरीक्षक धमे्रश कुमार
शाही, H/C राज कुमार सिंह तथा छः अन्य
Page--- (26)
                    PW 8
                    24-7-2012

आरक्षियों के बयान अंकित किये
गये जिनके द्वारा दिनांक 22.12.07 को
अभियुक्तगणों की गिरफ्तारी तथा उनके पास
से की गई बरामदगी की पुष्टि की गई।
दिनांक 20.12.09 को STF  के अपर पुलिस
अधीक्षक श्री मनोज कुमार झा द्वारा नोडल
अधिकारी एयरटेल से प्राप्त मोबाइल
फोन नं0 9906753203 के मूल call
detail report  की प्रति प्रदान की गई।
जिसे मेरे द्वारा दिनांक 20.07.2012 को
जमा किया गया। मेरे द्वारा दिनांक 25.03.2011
को अभियुक्तगणों के पास से बरामद किये
गये सिम कार्ड के धारकों के नाम एवं
पता एवं उनकी वस्तु स्थिति ज्ञात करने
के लिए निर्देश टीम के सदस्यों को दिये
गये जिस पर मोबाइल नं0 9450047342
के धारक आसिफ पुत्र सउद निवासी मंसूरन
थाना अखण्डपुर जनपद सुलतानपुर द्वारा
यह बताया गया कि उसके द्वारा उक्त सिम
हेतु आवेदन किया गया था तथा सिम
खरीदने के बाद उसकी आर्थिक स्थिति खराब
होने के कारण वह सिम कार्ड अबू सउद पुत्र
अबू तालिब निवासी मंसूरन थाना अखण्ड नगर
Page--- (27)
                    PW 8
                    24-7-2012

जनपद सुलतानपुर को दे दिया गया। अबू साहब
द्वारा पूछताछ करने पर यह बताया गया कि
उसके द्वारा वह सिम अपने रिश्तेदार मोहम्मद
तारिक काजमी जो इस अभियोग में अभियुक्त
है उसको प्रदान किया गया। जांच के
अन्तर्गत अन्य सिम कार्ड के मोबाइल धारकों
के नाम तथा पते की पुष्टि नही हो सकी।
मेरे द्वारा IMSI सिम नं0 8991550505008
120564 का ज्ञात किये जाने हेतु एयरटेल
के नोडल अधिकारी से सम्पर्क किया गया
जिस पर उनके द्वारा एटीएस सर्विलांस सेल
के प्रभारी अधिकारी निरीक्षक श्री ए0के0
बनर्जी के प्रेषित उनके रजिस्टर्ड मेल
आईडी akb@upats.com पर यह अवगत
कराया गया कि उक्त सिम नं0 का क्रमांक
9906753203 है उक्त प्राप्त रजिस्टर्ड मेल
आईडी जो श्री ए0के0 बनर्जी द्वारा मेरे
रजिस्टर्ड मेल आई0डी0 rs@upats.com
पर अग्रसारित की गई उसका मूल प्रिंट आउट
मेरे द्वारा लिया गया जो शामिल पत्रावली
दिनांक 20.07.2012 को दाखिल
किया गया था। मेरे द्वारा अभियुक्तगण तथा
उनके संगठन हूजी के जम्मू एण्ड
कश्मीर इकाई के मुखिया हेजाइजी के
 Page--- (28)
                   PW 8
                    24-7-2012

मध्य अन्तर सम्बंधों को स्थापित करने
हेतु अभियुक्तगणों के पास से बरामद
किये गये मोबाइल फोन सिम कार्ड, उनके
CDR (call detail report) उनके IMEI 
के विभिन्न नेटवर्कों से प्राप्त आकड़ों एवं
हूजी के जम्मू कश्मीर विभाग के
प्रमुख हेजाइजी के पास से बरामद किये
गये मोबाइल फोन, सिम कार्ड से सम्बंधित
call detail report के आंकड़ों का
अध्ययन एवं अन्तर सम्बंध आई-2 सोफ्ट
वेयर के माध्यम से किया गया तथा
उनके मध्य अन्तर सम्बंधों को अभियुक्तों
के एवं हेजाइजी के पास से बरामद
किये गये मोबाइल फोन, सिम कार्डों से
सम्बंधित आंकड़ों का विश्लेषण सरल
ग्राफिकीय चित्रण में करते हुए स्वःहान
लेख अंकन तथा स्व हस्ताक्षर से माननीय
न्यायालय के समक्ष दाखिल किया है।
जिससे इनके मध्य अन्तर सम्बंधों
की पुष्टि होती है।
         to be continued  

blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN