गुरुवार, 29 जुलाई 2010

पारिवारिक कलह ने दो पत्नियांे की जान उनके पतियों ने ली

बाराबंकी।जनपद के दो अलग अलग थानों में पारिवारिक कलह के चलते दो महिलाओं की जान उनके पति द्वारा ले ली गयी।
 पहली घटना थाना सतरिख के ग्राम लक्ष्मणपुर के मजरे इब्राहिमापुर की है।यहाॅ नेपाल वर्मा की पत्नी ऊषा वर्मा (25) की लाश संदिग्ध अवस्था में उसकी सुसराल में मिली। सुसराल वालो के अनुसार अज्ञात कारणों से उसने फाॅसी लगाकर आत्महत्या कर ली परन्तु उसके छः वर्ष के पुत्र दीपक ने अपने नाना राम खेलावन वर्मा नि0भढियनपुरवा थाना सतरिख से रो रो कर बताया कि उसके पिता ने माॅ(ऊषा) को उस समय बेना (पंखा) की डन्डी से मारा जब तेज बुखार होनेे के कारण उसने खाना बनाने से इंकार कर दिया।उसके बाद रात में वह सो गया और सुबह उसकी माॅ मरी अवस्था में मिली।पुलिस ने पति नेपाल के विरुद्ध राम खेलावन की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।मृतका के पिता राम खेलावन के अनुसार ऊषा की शादी 12 वर्ष पूर्व हुई थी।उसे दो पुत्र दीपक (6),शिवा(4)पैदा हुए।पति नेपाल वर्मा के पास आय के कोई अधिक संसाधन नही थे।आर्थिक तंगी के कारण दोनो पति पत्नी के बीच झगड़ा हो जाया करता था और नेपाल अक्सर अपनी पत्नी  से कहा सुनी होने पर पिटाई कर दिया करता था।पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार ऊषा की हत्या उसके मुॅह पर तकिया रख कर दम घोट कर दी गयी थी और मरने से पूर्व उसके साथ हाथा पायी भी हुई थी।
 दूसरी घटना थाना रा0स0घाट के ग्राम बहरापुर की है।जहाॅ गांव से कुछ दूर सुनसान जगह पर राम लली (23)पत्नी सुग्गे रावत नि0ग्राम सैयदखानपुर थाना दरियाबाद की लाश अर्धनग्न अवस्था में पड़ी पायी गयी।उसकी हत्या गला दबाकर की गयी थी।जिसके साफ निशान गले पर  मौजूद थे। ऊषा की तरह राम लली की भी हत्या उसके पति ने की।मृतका के परिजनों के अनुसार सुग्गे रावत एक शराबी निखटटू किस्म का इंसान है और इसकी इन्ही बुरी आदतो से तंग होकर रामलली व सुग्गे के बीच लड़ाई झगड़ा हुआ करता था।सुग्गे द्वारा रामलली केा बरी तरह से पीटा जाता था। पति के जुल्मों से तंग आकर अंततः रामलली अपने मायके आकर ढाई माह पूर्व बैठ गयी।सुग्गे ने काफी प्रयास किया कि वह वापस उसके घर आ जाए परन्तु रामलली इसके लिए राजी न हुई।मृत्यु एक रोज पहले सुग्गे अपनी बड़ी बहन के साथ रामलली को मनाने फिर गया,उसे काफी तरह से समझाया बुझाया माफी मांगी परन्तु रामलली टस से मस न हुई,अंत में क्रोधित होकर सुग्गे ने उसे देख लेने की धमकी दे डाली।शराबी की बात रामलली ने अनसुना कर दिया।परन्तु उसे क्या मालूम था कि सुग्गे इतना नाराज हो गया कि उसकी जान ले लेगा।अपनी मौत से बेखबर रामलली कल जानवर चराने जंगल की ओर गयी थी। परन्तु फिर जीवित वापस न लौट  सकी। प
 पुलिस ने उसकी लाश का पोस्टमार्टम अंजाम दिलाया।जिसकी रिपोर्ट मंें डा0द्वारा उसकी मौत का कारण गला दबाकर मार डालना लिखा है।साथ ही सूत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक उसकी हत्या करने से पहले उसके साथ निर्दयता पूर्वक सामूहिक बलात्कार किया गया था। परन्तु पुलिस इसको सच नही मान रही है।
blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN