रविवार, 19 सितंबर 2010

24 सितम्बर को आने वाले निर्णय के उपरान्त शांति व्यवस्था सुदृढ करने में जुटा प्रशासन

बाराबंकी।आगामी 24 सितम्बर को अयोध्या मन्दिर/मस्जिद विवाद की मिलकियत के फैसले के आने पर कोई अप्रिय घटना न घटे और शरारती तत्व अपने किसी प्रकार के शैतानी मंसूबे केा अंजाम न दे सके,इसके लिए जिला प्रशासन व पुलिस ने कमर कसते हुए आज एस0पी0ओ0(विशेष पुलिस अधिकारी)के साथ पुलिस लाइन में एक बैठक करके उन्हे उनके कर्तव्यों एवं दायित्वों के बारे में दिशा निर्देश दिए तथा हाथ उठाकर सभी ने जनपद में शांति व्यवस्था कायम रखने और यहाॅ की परम्परागत धार्मिक सौहार्दता को बनाए रखने की शपथ ली।
 पुलिस अधीक्षक नवनीत कुमार राणा ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि जनपद बाराबंकी के मिजाज के बारे मेें उन्होने अपने थोड़े से कार्यकाल में जो आकलन किया है,उसके अनुसार यहाॅ के लोग शांति प्रेमी और गंगा जमुनी तहजीब को मानने वाले है।शायद यह उन बुजुर्गो की बरकत का नतीजा है जिन्होने इस जनपद को अपनी कर्म भूमि बनाकर यहाॅ धर्म का सही प्रचार प्रसार किया।श्री राणा ने बैठक में उपस्थित एस0पी0ओ0को उनकी जिम्मेदारियों के प्रति सचेत करते हुए कहा कि प्रशासन ने उन्हे उनके द्वारा समाज में अच्छे आचरण के कारण यह जिम्मेदारी उन्हे सौपी है ताकि क्षेत्र के अमन चैन और जिसकी परम्परागत सौहार्दता की रक्षा के लिए वह अपने कर्तव्यों का निर्वाह करें।
 पुलिस अधीक्षक ने एस0पी0ओ0को उनके कर्तव्यों एवं दायित्वों के बारे में समझाते हुए कहा कि उन्हे अपने आस पास के उन तत्वों पर निगाह रखना है जो धार्मिक द्वेष या उत्तेजनात्मक चर्चाए करके समाज में अफरा-तफरी का माहौल उत्पन्न करें। ऐसे तत्वों के बारे में वह तुरन्त पुलिस व जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों को अवगत कराएं।श्री राणा ने बताया कि संचार की नवीनतम तकनीक का लाभ उठाकर कुछ शरारती तत्व मोबाइल पर एस0एम0एस0,एम0एम0एस0,क्लीपिंग तथा इण्टरनेट के माध्यम से अफवाहें फैलाकर अथवा नफरत भरे संदेश भेज सकते है।ऐसे एस0एम0एस0या एम0एम0एस0 के बारे में तुरन्त पुलिस अधिकारियों या स्वयं सीधे उन्हे बताते हुए इन्हे ट्रांसफर कर सकते है ताकि ऐसा कृत्य करने वाले लोगो को समय रहते चिन्हित करके उनके विरुद्ध प्रभावी कानूनी कार्यवायी की जा सके।
 एस0पी0ओ0 को उनकी जिम्मेदारियों का एहसास कराते हुए उन्होने कहा कि वह अपने को पहले हिन्दू या मुसलमान सिख या ईसाई इत्यादि न समझकर पहले भारतीय समझे और गैर कानूनी या गलत कार्य करने वाले लोगो को ऐसा करने से रोकने में पुलिस व जिला प्रशासन की सहायता करे।मन्दिर/मस्जिद मुकदमें का फैसला किसी के भी पक्ष मंे आए,दूसरा पक्ष अगली अदालत जा सकता है।
 इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक के अलावा अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी रमाकान्त प्रसाद,अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी श्री पर्णा गांगुली क्षेत्राधिकारी नगर दीपेन्द्र कुमार चैधरी,क्षेत्राधिकारी सदर सुखराम भारती,क्षेत्राधिकारी रामनगर एस0के0मिश्रा,एस0ओ0मसौली,एस0ओ0रामनगर व एस0ओ0सफदरगंज के अतिरिक्त एस0पी0ओ0के तौर पर डा0ए0ए0अंसारी,डा0विनय जैन,सरदार गुण्वन्त सिंह,मो0वसीम राईन,जावेद डान,प्रदीप जैन,राजीव गुप्ता उर्फ बब्बी,पवन जैन,ताज बाबा राईन,रविनन खजांची,जुनैद अंसारी,राजन शर्मा,कैलाश शर्मा,सुशील गुप्ता,मो0तैय्यब उर्फ बब्बू,मो0नईम,समेत सैकड़ो की संख्या में नगर तथा अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी क्षेत्र एस0पी0ओ0मौजूद थे।
बैठक के अंत में पुलिस अधीक्षक द्वारा उपस्थितजनों को हाथ उठवाकर अपने सामाजिक व कानूनी दायित्वों एवं कर्तव्यों का निर्वाह करने की शपथ दिलवायी गयी।
blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN