गुरुवार, 2 अक्तूबर 2014

चिरंजीव नाथ सिन्हा पुलिस उपाधीक्षक लखनऊ का सशपथ बयान--------गवाह -----------4----------जारी---------

(16)
न्यायालय अपर सत्र न्यायाधीश कक्ष सं0 5
बाराबंकी
ST 310/08
स वि0 मो0 खालिद
मुजाहिद व 1 अन्य
थाना कोतवाली
PW - 4
9-10-9
    चिरंजीव नाथ सिन्हा क्षेत्राधिकारी
बाजार खाला ने सशपथ बयान किया
    मुख्य परीछा विपक्षी तिथि से जारी
    दोनों मुल्जिमान जिन्हें मैंने
मौके से गिरफ्तार किया था वह आज
हाजिर अदालत है जिनके नाम खालिद
मुजाहिद व मो0 तारिक कासमी है
मुल्जिम खालिद मुजाहिद हरकत उल मुजाहिद अल
इस्लामी नामक प्रतिबंधित संगठन के फौजी
दस्ते का कमांडर था। लखनऊ कचहरी में
हुए विस्फोट की जिम्मेदारी खालिद मुजाहिद
को दी गई थी।
    मौके से गिरफ्तार शुदा दो अभियुक्त
उपरोक्त, फर्द बरामदगी, दोनों के पास से बरामद
अलग-अलग माल मुकदमाती मय नमूना मुहर
मैं अपनी समस्त टीम के साथ उन्ही वाहनों
से समय 9.15 बजे उसी दिन थाना कोतवाली
नगर बाराबंकी पहुंचे। थाना कोतवाली में
उपरोक्त माल मुल्जिमान व कागजात उपरोक्त के
समय 9.15 बजे मौजूद दीवान जी को दिया।
 (17)

            दाखिला के
फर्द बरामदगी के आधार पर मुल्जिमानों के
विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट अंकित की गई।
मुकदमा कायमी के उपरांत जो माल मैने
मौके पर सील मुहर किया था उस पर अपराध
संख्या थाना कार्यालय द्वारा डाला गया।
दोनों मुल्जिमों को दाखिल हवालात कराया
गया व मालमय नमूना मुहरों के सम्बंधित
माल खाना कराया गया।
    मौके पर तैयार मुल्जिम खालिद
मुजाहिद से बरामदगी के सम्बंध में तैयार
नमूना मुहर हमराह SI धनंजय सिंह
के लेख मेें है व मेरे द्वारा हस्ताक्षरित है।
मेरे हस्ताक्षर के नीचे मेरे लेख दि0 22.12.07
व C.D. चौक  अंकित है। नमूना मोहर
पर मु0अ0सं0 मौके पर अंकित नहीं किया
गया था जो कायमी मुकदमा के बाद
थाने पर अंकित किया गया था।
इसी नमूना मोहर Seen C.J.M साहब के
हस्ताक्षर व नीचे CJM BBK अंकित है जो
बाद में डाला गया होगा। नमूना मुहर
मेरे बोलने पर SI धनंजय सिंह के लेख में
है। 3 नमूना मुहर पर प्रदर्शक-5 डाला
गया। इसके अतिरिक्त मौके पर बरामदगी
के उपरांत मौके पर बरामद माल सील किये
जाने के उपरांत तारिक कासमी से
बरामद माल से सम्बंधित नमूना मुहर
मौके पर मेरे बोलने पर हमराह SI  धनंजय सिंह
द्वारा लिखी गई थी। इस पर मेरे हस्ताक्षर
है। हस्ताक्षर के नीचे मेरे लेख में 22.12.07
व C.O. चैक अंकित है।
  
 (18)

इसमें भी मु0अ0सं0 के आगे 1891
मुकदमा कायमी के वाद डाला गया है।
इस नमूना मोहर मेंSeen CJM  बाराबंकी
के हस्ताक्षर व हस्ताक्षर के नीचे CJM
BBK अंकित है इस पर प्रदर्शक-6
डाला गया। जिसे आज दाखिल किया है।
    अभियुक्त खालिद मुजाहिद
से सम्बंधित सर्वमुहर माल मुकदमाती
वाद परीक्षण सर्वमुहर हालत में मेरे साने
है। इस मुल्जिम से सम्बंधित विवेचक
श्री राजेश श्रीवास्तव पुलिस उपाधीक्षक
(C.O.) ATS  की नमूना सील भी आज
दाखिल कर रहा हूँ।
    सर्व मुहर व उस न्यायालय के आदेश
से खोला गया तो सफेद कपड़े के अन्दर
पुराना नीला बैग व जरूरी इस्तेमाली कपड़ा
कुर्ता पायजामा सफेद रंग व रूपया तीन सौ पचास
जिसमें तीन नोट 100-100 के व एक नोट पचास
का निकला। यह कुर्ता पायजामा सफेद
पालीथीन में है।
    सफेद कपड़ा जिसमें उपरोक्त माल
सील था उस पर मुकदमें से सम्बंधित
इबारत व माल का विवरण अंकित है। यह
इबारत श्री राजेश श्रीवास्तव पुलिस उपाधीक्षक
ATS के लेख व हस्ताक्षर में है।
    उपरोक्त विवेचक श्री राजेश श्रीवास्तव
दो वर्ष एक प्रशिक्षण के दौरान मेरे साथ
रहे हैं। मैंने उनको लिखते पढ़ते व हस्ताक्षर
करते देखा है व उनके लेख व हस्ताक्षर से
भली भांति परिचित हूँ। उनके द्वारा तैयार की
गई नमूना मोहर दाखिल कर रहा हूँ। जिस पर
प्रदर्शक-7 डाला गया।   
page  (19)

उपरोक्त बरामद सामान को गवाह ने
देखकर कहा कि जरूरी इस्तेमाल चीजों में
कुर्ता पायजामा के अलावा शेष मालों का
पूर्व विवरण फर्द बरामदगी प्रदर्शक-4 में
अंकित है। गवाह ने माल देखकर कहा कि
यह वही माल है जो मौके से बरामद
हुआ था।
    सबसे ऊपरी सफेद कपड़े पर वस्तु प्रदर्श
-1 बैग पर वस्तु प्रदर्श-2 बरामद नोट पर 100 के
तीन नोटों पर वस्तु प्रदर्श-3/1, 3/2, 3/3 तथा पचास
रूपये की एक नोट पर वस्तु प्रदर्श 3/4 डाला
गया। कुर्ता पर वस्तु प्रदर्श 4 पायजामा पर
वस्तु प्रदर्श-5 सफेद पालीथीन (रंगहीन)
पर वस्तु प्रदर्श-6 डाला गया।
    अभियुक्त मो0 तारिक कासमी से
सम्बंधित नमूना मोहर जो उपरोक्त विवेचक
के लेख व हस्ताक्षर में है व सील व तारीख
अंकित है जिसे आज दाखिल कर रहा हूँ
जिस पर प्रदर्शक-8 डाला गया। इस
अभियुक्त से बरामद माल मुकदमा की सर्वमुहर
हालात में जो बाद परीक्षण आया है मेरे सामने
है जिसे समक्ष न्यायालय खोला गया।
सफेद कपड़ा जिसमें माल सर्व मुहर था मेरे
सामने है इस पर लिखी इबारत व माल का
विवरण उपरोक्त विवेचक के लेख व
हस्ताक्षर में है। जिस पर वस्तु प्रदर्श-7
व इसके अन्दर बरामद काले रंग का एअर बैक
व रंगहीन पालीथीन मंे लालरंग की पालीथीन थी। जिसमें
एक डायरी व डायरी के अन्दर रोडवेज टिकट व 300 रूपया
(20)

(100-100 के 3 नोट) निकले। व जरूरी इस्तेमाली
कपड़े कुर्ता सफेद, पायजामा सफेद, सफेद
मटमैली बनियाइन, एक सफेद गोल गले की
बनियाइन, एक गोल टोपी जालीदार, एक
नेहरू कट टोपी, एक कुर्ता काला, एक
स्लेटी कुर्ता पठानी, दो चड्ढी आसमानी व
नीले रंग की, दो दातून लकड़ी की निकली।
उपरोक्त सामान को देखकर गवाह ने कहा
कि यही शेष माल मुल्जिम के पास से बरामद
हुआ था जिन पर क्रमश वस्तु प्रदर्श 8 ता 23 व
दातून पर वस्तु प्रदर्श 24/1 व 24/2 डाला गया।
उपरोक्त प्रदर्शो में रूपयों पर वस्तु प्रदर्श 13/1 ता 13/3
डाला गया है।
    दोनों अभियुक्तों के पास बरामद उपरोक्त
माल शेष माल हैं।
    बाद परीक्षण सेन्ट्रल फोरेंसिक
साइंस लैबोरेटरी हैदराबाद से वापस उपरोक्त
मुकदमे से सम्बंधित माल मुकदमाती एक बड़े
लिफाफे में जिस पर लाल रंग का चिप्पक लगा है
व मुकदमें का विवरण है व लिफाफे के पीछे
Fxsiit के  Detail  अंकित है सर्व मुहर
हालत में न्यायालय के समक्ष है।
न्यायालय के आदेशानुसार लिफाफे की सील तोड़ी
गई व लिफाफा खोला गया। लिफाफे पर वस्तु प्रदर्श-25
डाला गया। लिफाफे के अन्दर एक रंगहीन सफेद
पालीथीन में रंगहीन सफेद मोबाइल कवर व एक
सील्ड पैकेट निकला जो सर्वमुहर हालत में है
उस सफेद कपड़े के पैकेट पर मुकदमें से सम्बंधित
इबारत व प्रयोग शाला का Ex अंकित है।
(21)


लिफाफे पर व सफेद कपड़े के पैकेट का
नं0 14651 व मुकदमे का विवरण ।Art Ex 
व OP -  120.08 अंकित है। सील्ड पैकेट
न्यायालय के आदेश से खोला गया
तो उसमें एक नोकिया का मोबाइल सेल व
दो सिम कार्ड निकले जिसे गवाह ने देखकर
कहा कि बरामद सिम कार्ड व मोबाइल वही है
जो मुल्जिमान मो0 मुजाहिद के पास से बरामद
हुए थे। जिसका विवरण फर्द में अंकित
है। मोबाइल सेट कवर खोलने पर एक सिम
कार्ड उसमें लगा मिला। उपरोक्त बरामद
शुदा मालों पर क्रमशः वस्तु प्रदर्श 26 ता 32
डाला गया।
    मोबाइल के अन्दर लगा सिम कार्ड भी
मय सेट बरामद हुआ था। इस प्रकार कुल
3 सिम बरामद हुए थे।
    अभियुक्त तारिक कासमी के पास
से बरामद शेष काल जो कर परीक्षण प्राप्त हुआ
सील्ड पैकेट में एक सफेद पालीथीन में मेरे सामने हैं
सील्ड पैकेट खोला गया तो एक मोबाइल हैण्ड सेट
नोकिया जिसके अन्दर व एक सिम बहर निकला
पैकेट पर मुकदमें से सम्बंधित इबारत तथा
नम्बर 14651 तथा ।Art Ext-1 व CF .120.08
अंकित है तथा एक सफेद कपड़ा जिस पर मुकदमें
से सम्बंधित इबारत व नम्बर 14651 अंकित
है। एक चाभी का गुच्छा जिसमें दो
चाभिया है जिसका विवरण फर्द प्रदर्शक-4
में अंकित है। गवाह ने कहा यह वही शेष
माल है जो मुल्जिमान से बरामद हुआ था
इस पर क्रमशः वस्तु प्रदर्श 33 ता 38 डाला गया।
   (22)


उपरोक्त दोनों अभियुक्तों के सम्बंध में
अभियुक्त मो0 खालिद मुजाहिद के घर
ग्राम व पो0 मडि़याहूं जनपद जौनपुर में
समक्ष गवाहान जामा तलाशी ली थी व फर्द
जामा तलाशी मौके पर तैयार की थी
जो हमराह कांस्टेबिल के लेख में है व
मेरे द्वारा हस्ताक्षरित है किसी ।A histul
छायाप्रति अ-15 शामिल पत्रावली मेरे
सामने है।
    Cross by defence 
For  खालिद मुजाहिद श्री रणधीर सिंह सुमन एडवोकेट
    जिस कपड़े में माल मुकदमाती सील
किया गया था वह मेरे पास पहले से
मौजूद था। उस दिन बाजार से नही खरीदा
गया था। वह कपड़ा कब खरीदा गया था
मुझे ध्यान नही है। उस कपड़े की आपूर्ति
मेरे विभाग ने नही की थी। मैंने वह
कपड़ा अपने स्टाफ से खरीदवाया था।
मुझे याद नही कि स्टाफ से कपड़ा मैंने
कब खरीदवाया था इस कपड़े का भुगतान
मैंने अपने व्यक्तिगत निधि से किया था।
इस वक्त यह ठीक से याद नही कि कितना
रूपया दिया था। इस वक्त यह ठीक से
याद नहीं कि किस स्टाफ से व कितने मीटर
कपड़ा खरीदवाया था। कपड़े का ब्राण्ड मुझे
नही मालूम है। कपड़ा सूती मारकीन टाइप
का था। कि ऐसा कपड़ा इस्तेमाल किया था ठीक
से माप याद नही है किन्तु जितनी आवश्यकता
 (23)


भी इतना इस्तेमाल किया था। कपड़ा
खरीदवाने के अतिरिक्त अन्य कौन सी चीज
मैने व्यक्तिगत खर्चे से इस मुकदमें में
खरीदी इस समय मुझे याद नही है।
    यह कहना सही है कि जिस
कपड़े में खालिद मुजाहिद का माल मुकदमाती
रखा हुआ है इसका किनारा सिला
हुआ है। यह कपड़ा बीच में कटा हुआ
है मौजूदा समय में। यह धुला हुआ
है कि नहीं मैं नही बता सकता।

Court obesevation
कपड़े में नील के धब्बे प्रतीत होते हैं।
    अभियुक्त तारिक कासमी से
बरामद शेष सामान जिस कपड़े में सील
किया था वह कपड़ा मेरे सामने है जिसका
एक किनारा सिला है।
    उपरोक्त दोनों कपड़े के टुकड़े
एक ही बड़े टुकड़े के भाग हैं।
    मैंने अपने उपरोक्त बयान में यह नही
कहा था कि मैंने नया कपड़ा खरीदवाया
था।
    यह कहना गलत है कि यह चादर मेरे
घर की है। यह भी कहना गलत है कि
मैंने जो कपड़ा खरीदवाने की बात कही
हैं वह गलत है।
    सील टूट गई है इसलिए मैं नही
पता सकता कि यह किसकी सील है।
(24)



पूरी सील दिखाने पर गवाह ने कहा
कि यह मेरी सील नही है किसकी 
सील है मैं नही बता सकता।
Cross continued
                    सुनकर तस्दीक किया
प्रमाणित किया जाता
है कि यह बयान मेरे
बोलने पर रीडर द्वारा
लिखा गया।

        अपर सत्र न्यायाधीश
        कक्ष सं0 5 बाराबंकी
            9.10.9
blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN