बुधवार, 23 जून 2010

ट्रक की टक्कर से मोटर साइकिल सवार भाई बहन की मौत

बाराबंकी। जनपद में मार्ग दुर्घटनाओ ने इस माह कहर बरपा कर रखा है। आज प्रातः इसी क्रम में दो सगे भाई बहन की एक मार्ग दुर्घटना में थाना देवा के अंतर्गत ग्राम भिटौली के पास दर्दनाक मौत हो गयी।
घटना का विवरण इस प्रकार है कि थाना देवां के ग्राम रिन्दुआ पल्हरी मजरे चकहार निवासी विनय कुमार(24) अपनी बड़ी बहन रीता (26) को उसकी सुसराल ग्राम मोहना के मजरे मित्तई थाना देवां से लेकर अपनी मोटर साइकिल पर अपने घर आ रहा था, कि ग्राम भिटौली के पास ट्रक नं0 एच0आर055 ई 7976 की टक्कर से दोनो की मौके पर मृत्यु हो गयी। ट्रक व ट्रक चालक दोनो को अपने कब्जे में ले लिया है।
2
संदिग्ध परिस्थितियों में अज्ञात व्यक्ति की लाश बरामद

बाराबंकी।थाना कोठी अंतर्गत ग्राम बैरही कुआॅ में संदिग्ध परिस्थतियों में एक अज्ञात (45) व्यक्ति की लाश पुलिस ने ग्राम प्रधान की सूचना पर एक खेत से बरामद की है।शव के शरीर एक मैली धोती और सैंडो बनियान के अतिरिक्त और कुछ नही था। उसका रंग साॅवला आॅख,कान, नाक कद औसत बाल छोटे चेहरे पर ठुड्डी के पास खशकशी दाढ़ी और बायीं टांग के ऊपरी जांघ पर काला लस्सन मौजूद मिला। ग्राम प्रधान के अनुसार यह व्यक्ति मात्र तीन दिन पूर्व से गांव में देखा जा रहा था और सम्भवता बीमार था। पुलिस ने उसका पोस्टमार्टम कराया।
3
ट्रेन से कटकर शराबी की मौत

बाराबंकी। थाना फतेहपुर अन्तर्गत इन्दिरा नगर के रहने वाले बीस वर्षीय शकील पुत्र अमजाद के मृत्यु ट्रेन से कटकर हो गई। पुलिस मे उसके पिता द्वारा दी गई तहरीर के मुताबिक वह शराब पीने का आदी था और इसी के चलते रेलवे लाइन पार करते हुए ग्राम रसूलपनाह के पास बीती शाम वह ट्रेन से कट गया।
4
अज्ञात वाहन की टक्कर से मोटर साइकिल सवार की मौत
बाराबंकी। थाना सफदरगंज के ग्राम प्यारेपुर सरैया मे बिन्द्रा स्कूल के पास किसी अज्ञात वाहन की टक्कर से मोटर साइकिल न0 यू0पी0 41 एफ 3373 पर सवार संजय गोस्वामी (36) पुत्र रामलखन गोस्वामी निवासी ग्राम भटेहटा थाना जहांगीरा बाद की मौके पर मृत्यु हो गई।



(5)
शिक्षा के माध्यम से व्यक्तित्व का विकास होना चाहिए ना कि व्यक्ति विशेष का
बाराबंकी।शिक्षा का उद्देश्य मनुष्य के व्यक्तित्व का विकास होना चाहिए न कि व्यक्ति विशेष का। हमें शिक्षा के द्वारा ऐसे समाज का निर्माण करना चाहिए कि जिसमे नागरिक सूझबूझ, नागरिक कर्तव्य व राष्ट्र धर्म के गुणो का समावेश हो। यदि ऐसा समाज निर्मित हो जाएगा तो देश में कानून का राज स्वयं स्थापित हो जाएगा और सामाजिक न्याय की प्राप्ति अपने आप हो जाएगी।
उक्त उद्गार जनपद के वयोवृद्ध अधिवक्ता पूर्व एम0एल0सी0 एवं उ0प्र0अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष गयासुद्दीन किदवाई आज जिला बार एसोसिएशन के सभागार में ग्राम्यांचल सेवा समिति हैदरगढ़ द्वारा आयोजित जनपद की शिक्षा में ग्राम्यांचल का योगदान सामाजिक न्याय पर विधिक परिचर्चा में मुख्य वक्ता के रुप में अपने भाषण के दौरान व्यक्त कर रहे थे।
श्री किदवाई ने आज की व्यवसायिक शिक्षा की दौड़ में शिक्षा के मूल उद्देश्यो से उसके भटक रहे कदमो पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि हमें शिक्षा के द्वारा अच्छे इंसान पैदा करना चाहिए न कि पैसा कमाने की मशीन रुपी मनुष्य। उन्होने जनपद के अति पिछड़े ग्रामीण क्षेत्र हैदरगढ़ में ग्राम्यांचल सेवा समिति के संरक्षक पूर्व विधायक व मौजूदा एम0एल0सी0 सुरेन्द्र नाथ अवस्थी उर्फ पुत्तु भैया के शिक्षा के क्षेत्र में प्रयासो की प्रशंसा करते हुए उन्हे अपनी ओर से आगे और उन्नति करने के लिए आर्शीवाद दिया।
प्रोग्राम के मुख्य अतिथि व कार्यकारी जिला न्यायाधीश दीना नाथ श्रीवास्तव ने अपने सम्बोधन में कहा कि विधि की शिक्षा इस प्रकार कालेजो में दी जाना चाहिए कि जिससे अच्छे अधिवक्ता निकले सामाजिक न्याय इन्ही के द्वारा ही जनता को मिल सकेगा। उन्होने अपनी बात जारी रखते हुए कहा कि यदि समाज के हर नागरिक, चाहे वह किसी भी क्षेत्र में हो यदि उसके अधिकार उसे मिल जाते है तो वह सामाजिक न्याय कहलायेगा।
ग्राम्यांचल परास्नातक कालेज हैदरगढ़ की प्राचार्या अर्चना श्रीवास्तव ने ग्राम्यांचल सेवा समिति के द्वारा संचालित ग्राम्यांचल इण्टर कालेज, ग्राम्यांचल परास्नातक कालेज एवं ग्राम्यांचल विधि महाविद्यालय की गुणवत्ता का गुणगान करते हुए अधिवक्ता समाज से अपील की कि वह कालेज आकर अपनी आॅखो से कालेज में चल रही शैक्षिक गतिविधियो का निरीक्षण करें। उन्होने परिचर्चा में अपने विचार रखते हुए कहा कि आज वास्तविकता के धरातल पर समाज बहुत बदल चुका है, आज हम आत्म केन्द्रित समाज की ओर अग्रसर है।सामाजिक मर्यादाएं जो हमें अपने बुजुर्गाे से अपने घर की चैखट पर या गांव की चैपाल में मिला करती थी , आज वह दम तोड़ चुकी है। व्यवसायिकता की इस दौड़ में सामाजिक बन्धन बिखर चुके है और सामाजिक विसंगतियो ने सबसे अधिका युवा वर्ग को अपने चंगुल में जकड़ रखा है। हमेें यदि मानव समाज की रचना करना है तो फिर से हमें नैतिक शिक्षा के मूल्यों का समावेश अपनी शिक्षा नीति में करना होगा। आज की व्यवहारिक शिक्षा नैतिक शिक्षा कदापि नही दे सकती।
परिचर्चा में एल्डर्स कमेटी के अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता केदार बख्श सिंह, जिला बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष मुचकुन्द सिंह वर्मा, राम जियावन यादव एडवोकेट,दिलीप गुप्ता एडवोकेट,कौशल किशोर त्रिपाठी एडवोकेट,उपेन्द्र सिंह एडवोकेट, हरीश अग्निहोत्री एडवोकेट, रणधीर सिंह सुमन एडवोकेट, हिसाल बारी किदवाई एडवोकेट, ग्राम्यांचल विधि महाविद्यालय के प्राचार्य अजय कुमार तिवारी, ग्राम्यांचल इण्टर कालेज की प्राचार्या अनीता श्रीवास्तव व कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष बृजेश दीक्षित ने अपने विचार रखे।कार्यक्रम का संचालन अपने चिरपरिचित अन्दाज में उपभोक्ता फोरम के सदस्य हुमायु नईम खाॅ ने किया।
कार्यक्रम का प्रारम्भ माॅ सरस्वती के चित्र पर मुख्य अतिथि दीना नाथ श्रीवास्तव जिला जज द्वारा माल्यार्पण करने के उपरान्त दीप प्रज्जवलित करके किया गया,तदोपरान्त मंचासीन सभी अतिथियों का स्वागत ग्राम्यांचल विधि महाविद्यालय के सह प्रबन्धक राजेश प्रताप सिंह व ग्राम्यांचल परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा माल्यार्पण,पुष्प भेंट एवं स्मृति चिन्ह भेंट करके किया गया।
blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN