गुरुवार, 2 अक्तूबर 2014

श्री मनोज कुमार झा, अपर पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0 लखनऊ का बयान किया -----------गवाह 5 बयान जारी ----3

(17)
एस0टी0 3/0/08
पी0डब्लू0 5      21/8/2010
गवाह श्री मनोज कुमार झा, अपर पुलिस अधी
क्षक एस0टी0एफ0 लखनऊ ने अपनी साक्ष्य दि0
28.05.2010 के क्रम में सशपथ बयान किया कि:-
    दौरान पूछताछ तारिक काजसी हाजिर
अदालत ने यह बताया कि खालिद मुजाहिद जो आज
हाजिर अदालत है मेरे बारे में जो बाते आपको
बताई हैं वह सत्य हैं। नवम्बर 2007 में
फैजाबाद लखनऊ व बनारस में कचेहरी
में हुए विस्फोट से पूर्व सज्जाद, तारिक कश्मीरी
इमरान गुरू व अब्दुल कदीर मेरे पास आये
थे और उन्होंने फैजाबाद लखनऊ व
बनारस की कचेहरियों में विस्फोट करने की
बात मुझे बताई थी। 22.11.2007 को सज्जाद
ने मुझे बताया कि शाम को शाहगंज में आकर
मिलना। मुझे यह भी बताया कि अपना
मोबाइल फोन घर पर ही छोड़कर आना।
शाहगंज में सज्जाद ने मुझसे कहा कि तुम्हें तारिक
कश्मीरी व इमरान के साथ फैजाबाद की कचेहरी
में विस्फोट करना है। इमरान व तारिक कश्मीरी
के पास एक एक बैग था।
    हम लोग अभियुक्त इमरान, तारिक कश्मीरी
व मैं, शाहगंज से सुल्तानपुर आये। सुल्तानुपर
से इस तरह से चले, बस से चले कि प्रातः हम
लोग फैजाबाद कुछ देर रूके, उसके बाद साढ़े नौ
बजे सुबह फैजाबाद कचेहरी के मेन गेट
पर पहुंचे। मुझे निगरानी कर वहीं गेट पर (18)
छोड़कर इमरान व तारिक कश्मीरी कहीं चले गये।
व लगभग पौन घण्टे बाद एक सायकिल लेकर
आये और दोनों बैगों को लेकर सायकिल के
साथ दोनों व्यक्ति कचेहरी के अन्दर चले गये।
थोड़ी देर बाद इमरान वापस आया और फिर
कहीं चला गया। पौन घण्टे बाद पुनः एक सायकिल
के साथ आया व कचेहरी के अन्दर साइकिल
के साथ चला गया। थोड़ी देर बाद इमरान वापस
आया और मुझे बताया कि अन्दर सारी सेटिंग
हो गयी है। तुम अपने घर चले जाओ तारिक
कश्मीरी भी चला जायेगा। मैं अपने घर वापस
चला गया।
    दि0 23 या 24 तारीख को सज्जाद ने मुझे
फोन करके बताया कि हम लोग लखनऊ से
नौचंदी एक्सप्रेस पकड़कर मैं देवबंद चला
आया हूं मैं यही एडमीशन के लिए रूका
हूं। मैं खुद कहा कि उपरोक्त दिनांक जो
मैं 23 व 24 बताई है वह 25 व 26
तारीख है। तारिक ने मुझे यह भी बताया
कि हिजाजी व निर्देश पर राजू मुख्तार
व छोटू के साथ गोरखपुर में विस्फोट
कराने के उद्देश्य से मैंने गोलकर गोरखपुर
में (रैकी) की थी। रैकी का मतलब
है कि किसी स्थान की भौगोलिक मतलब
है कि किसी स्थान की भौगोलिक स्थिति
मकान संस्थान आदि का किसी विशिष्ट
उद्देश्य से अध्ययन करना, होता है।
आने का यह भी बताया कि वर्ष 2006 में
राजू व खालिद कश्मीरी के निर्देश पर
बनारस में मैंने पांच किलो आर0डी0
एक्स0 राजू मुख्तार व एहतिशाम
मांलेगांव से प्राप्त किया था।
(19)
जिसे ले जाकर मैंने नई दिल्ली में जामा मस्जिद
के पास हेजाजी व खालिद कश्मीरी को दिया
था। इसके बाद मैंने हवाला से पांच लाख प्राप्त
रूपये भी हेजाजी को दिल्ली में दिया था।
आज जो विस्फोटक मेरे पास से बरामद हुआ
है इसे राजू मुख्तार ने मुझे इमरान
को देने के लिए कहा था जिसे देने मैं
आज यहां आया था। इमरान इन
विस्फोटकों को तैयार कर मुझे देता तथा
यह बताता इनका प्रयोग कहा किया
जाना है। उपरोक्त पांच लाख रूपये जो
हवाला से प्राप्त हुए थे उसे हेजाजी व
खालिद कश्मीरी को दिल्ली में ले जाकर
दिया था।
    दोनों अभियुक्तांे हाजिर अदालत से
प्राप्त विस्फोटक व उपरोक्त सामान वही
मौके पर बरामदगी के क्रम में उसी एअर
बैग में रखकर और बैगों को अलग
अलग एक सफेद कपड़े में रखकर
अलग अलग सर्व मुहर मौके पर कराया
गया था और मौके पर अलग-अलग
सर्व मुहर कराया गया था। और नमूना
मोहर तैयार किया गया था। फर्द मौके
पर ही पुलिस उपाधीक्षक सी0ओ0
चैकी श्री चिरंजीव सिन्हा द्वारा एस0टी0
एफ0वी0 उपनिरीक्षक श्री धनंजय मिश्रा
को बोल बोलकर लिखाया था जिसका हम
लोगों ने पढ़कर उस पर हम लोगों को
पढ़कर सुनाया गया था हम लोगों में
उक्त मुल्जिमों को भी पढ़कर सुनाया गया
था सुनकर व पढ़कर हम लोगों व मुल्लिम
(20)
ने उस पर अपने हस्ताक्षर बनाये थे
फर्द की एक नकल दोनों मुल्जिमानों
को अलग अलग देखकर पुनः मुल्जिमान के भी हस्ताक्षर
बनवाये गये थे।
    मौके से हम सभी लोग मुल्जिमान
गिरफ्तार शुदा के साथ व मय सील कवर
बरामद सामान के थाना कोतवाली मय
नमूना मोहर व कागजात के थाना कोतवाली
बाराबंकी आये थाना कोतवाली बाराबंकी
पहुंचकर सर्व मुहर माल मुकदमाती व
नमूना मोहर तथा मुल्जिमान व कागजातो
का दाखिला उपरोक्त सी0ओ0 श्री चिरंजीव
नाथ सिन्हा द्वारा कराया गया और
मुकदमा पंजीकृत कराया गया। वे दोनों
अभियुक्त हाजिर अदालत है जिन्हें मैं
पहचानता हूँ जिन्हें मौके से गिरफ्तार किया
गया था।
for defence by Sri
R.S. Suman Advocate accused
आज इस मुकदमा में अदालत के अलावा
मैंने विवेचक को एक बार बयान दिया
है। विवेचक श्री राजेश श्रीवास्तव ए0टी0एस0
है। इसके अतिरिक्त मैंने कही बयान
नहीं दिया है।
    इस स्तर पर गवाह श्री मनोज कुमार
झा द्वारा एक प्रार्थना पत्र दिया गया कि उन्हें
एक Urgent operation में जिले से बाहर
जाना है अतः आज की शेष प्रति परीक्षा
स्थगित कर दी जाये। स्वीकृत दि0 08.09.2010 को
के लिए प्रतिपरीक्षा स्थगित की जाती सुनकर तस्दीक किया है।
स्पेशल जज ई0सी0 एक्ट   
blog comments powered by Disqus

लोक वेब मीडिया टीम

मुख्य सलाहकार - मुहम्मद शुऐब
मोबाइल
-09415012666
संपादक -तारिक खान
मोबाइल
-09455804309
प्रबंध संपादक -रणधीर सिंह सुमन
मोबाइल
-09450195427
उपसंपादक - पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
मोबाइल
-09838803754

subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Loksangharsh Patrika

Loksangharsh Patrika

 

Template by NdyTeeN